रविवार, 17 जून 2012

आमिर खान ... भारत में आदर्श पुरुष -चीन में गुनहगार

आमिर खान ...
भारत में आदर्श पुरुष -चीन में गुनहगार 

 आमिर खान  आज कल टी वी  चैनलों  पर अपने नए  अवतार  समाज सुधारक के रूप में खूब वाह -वाही  लूट  रहे हैं ...वहीँ   महिलाओ पर पुरुष अत्याचार और घरेलू हिंसा के दृश्य दिखा कर खूब चांदी भी कूट रहे हैं . एक शो के तीन करोड़ व् अब तक 20 करोड़ की कमाई कर चुके हैं।
विश्व के सभी सभ्य देशों में महिलाओ को कानून का संरक्षण प्राप्त है ... मग़र इस्लामिक जगत में शरिया कानून के तहत ..शौहर को अपनी बीवी को  पीटने का हक़ प्राप्त है क्योंकि पैगम्बर मुहम्मद  साहेब  ने फ़रमाया है कि किसी आदमी से यह नहीं पूछा जाएगा कि उसने अपनी बीवी को क्यों पीटा ? पश्चिमी देशों में तो मुस्लिम महिलाओं को शरिया क़ानून का हवाला दे कर घरेलु हिंसा में दखल देने में  असमर्थता प्रकट की जाने   लगी है।
आमिर खान और अन्य  सेकुलर मज़हब के नाम पर ..चार -चार निकाह, तीन तलाक ,अनगिनत बच्चे ,मेहर, हलाला ,गुज़ारा खर्चा ,पर्दा आदि मध्य युगीन कुरीतिओं पर आपराधिक चुप्पी साधे हैं। आमिर साहेब रीना दत्त से दो बच्चे जुनैद और इरा ...तलाक ...फिर किरण राव से निकाह  और फिर बेटा आजाद और वह भी किसी औरत की उधार की कोख से ...क्या तीन तीन  औरतों व् एक मासूम कन्या  के  साथ एक साधन संपन्न आप जैसे 'आदर्श' पुरुष का यही न्याय है ? चीन जैसे देश में आप जैसे 'आदर्श पुरुष' को समाज से तरिस्कृत और सलाखों के  पीछे फेंक दिया जाता .

2 टिप्‍पणियां:

  1. अच्छा है कि कि विश्व की जनसंख्या का एक बड़ा भाग चीनी तानाशाही के खूनी पंजों से बाहर है।

    उत्तर देंहटाएं