गुरुवार, 16 सितंबर 2010

कश्मीर का नासूर- बिरियानी उपचार

कश्मीर का नासूर - बिरियानी उपचार ?
एल.आर.गाँधी

पिछले छै दशक में चाचा नेहरु का दिया नासूर ' कश्मीर' -कैंसर बन चूका है.होमिओपेथी की मीठी गोलिओं से उपचार बदस्तूर जारी है. नेहरूजी के मीठे मीठे वादे, धारा ३७० ,शेख अब्दुला-सदर-ए-रियासत ,१% आबादी पर केंद्र का ११% अनुदान, ९४००० करोड़ की पैकेज-बिरियानी, मुस्लिम मुख्यमंत्री ,केंद्र में दो-दो मुस्लिम मंत्री कश्मीर से ....मर्ज़ बढ़ता गया ज्यों ज्यों दवा की ! नतीजा -साढे चार लाख कश्मीरी पंडित भगा दिए, १०००० हिन्दुओं का क़त्ल, १०७ मंदिर तो डाले , राष्ट्र के विरुद्ध जेहाद, राष्ट्र ध्वज का अपमान ,लाल चौक पर पाक परचम ,सैनिको पर हमले ,सरकारी इमारतें आग के हवाले,पाक के हक़ में और भारत के विरुद्ध नारेबाजी, फिर भी सेकुलर सी सी एस अफ्स्पा हटाने की तैयारी में ? उन्हें आज़ादी- निज़ामे- मुस्तफा - की है दरकार और आप बिरियानी खिला रहे हो यार !

2 टिप्‍पणियां:

  1. बिल्कुल सही लिख रहे हैं. अगर नेताओं की औलादें सीमा पर तैनात होतीं तो इन ॒*(॓*(॓ को पता चलता...

    उत्तर देंहटाएं
  2. छोटा, लेकिन हैवी डा•ा......
    सतसईयां के दोहे जैसी टिप्पणी रही यह।

    उत्तर देंहटाएं